36.2 C
Dehradun
Tuesday, May 28, 2024
Homeउत्तराखंडकूड़ा बीनने वाली बालिकाओं को चिन्हित कर स्कूलों में कराएं एडमिशन :...

कूड़ा बीनने वाली बालिकाओं को चिन्हित कर स्कूलों में कराएं एडमिशन : कुसुम

 

रूद्रपुर। मातृ शक्ति की शिक्षा, चिकित्सा तथा सुरक्षा का कार्य पूरी तत्परता से किया जाये। यह बात राज्य महिला आयोग की अध्यक्ष कुसुम कण्डवाल ने जिला कार्यालय सभागार में अधिकारियों के साथ बैठक लेते हुए कही। उन्होंने कूड़ा बीनने वाली बालिकाओं को चिन्हित कर स्कूलों में प्रवेश दिलाने के निर्देश दिए। 

उन्होंने गर्भवती महिलाओं, जच्चा-बच्चा को चिकित्सा सुविधाऐं नियमानुसार उपलब्ध कराने, एसिड अटैक, योन उत्पीड़न से सम्बन्धित महिलाओं के उपचार एवं परीक्षण प्राथमिकता से कराने के निर्देश स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को दिये।

उन्होंने घरेलू हिंसा, योन उत्पीड़न एवं महिलाओं पर होने वाले अत्याचारों के शिकायतों पर तुरन्त कार्यवाही करने के निर्देश पुलिस विभाग के अधिकारियों को दिये।

उन्होंने कहा कि सिडकुल आदि में कार्य करने वाली कामकाजी महिलाओं के रहने के लिए कम खर्च पर सुरक्षित व उचित स्थान मुहैया कराने के लिए होस्टल का निर्माण कराया जाये।

बालिकाओं तथा महिलाओं के लिए नारी निकेतन की व्यवस्था की जाये। कूड़ा बीनने वाली व ड्रोप आउट बालिकाओं को चिन्हित करते हुए, उन्हें विद्यालयों में प्रवेश दिलाने के निर्देश मुख्य शिक्षा अधिकारी को दिये।

बैठक में मुख्य विकास अधिकारी आशीष भटगाई ने कहा कि विभिन्न समस्याओं से ग्रस्त महिलाओं के साथ ही सभी आगन्तुकों के साथ सरल व सौम्य व्यवहार किया जाये तथा उनकी समस्याओं को गंभीरता से सुनते हुए उनका निराकरण किया जाये।

उन्होंने निर्देशित करते हुए कहा कि माृत शक्ति को किसी भी दशा मे हतोत्साहित न किया जाये बल्कि हर समय प्रोत्साहित किया जाये।
अपर जिलाधिकारी ललित नारायण मिश्र ने बताया कि आयोग से महिला उत्पीड़न से सम्बन्धित 11 शिकायतें प्राप्त हुई थीं, जिसमें से 10 शिकायतों का निराकरण कर दिया गया है, जबकि शेष एक शिकायत के निराकरण हेतु तेजी से कार्य किया जा रहा है।

बैठक में जिला कार्यक्रम अधिकारी उदय प्रताप सिंह ने प्रधानमंत्री मातृ वन्दना योजना, वन स्टॉप सेंटर, घरेलू हिंसा, चाइल्ड हैल्प लाईन, नन्दा गौरी योजना, टेक होम राशन आदि के बारे में विस्तार से जानकारी दी।

मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ.सुनीता रतूड़ी ने महिलाओं के स्वास्थ्य एवं टीकाकरण, रेप कैस पीड़ित महिलाओं के परीक्षण आदि के बारे में विस्तार से जानकारी दी।

बैठक में मुख्य विकास अधिकारी आशीष भटगाई, अपर जिलाधिकारी ललित नारायण मिश्र, जिला कार्यक्रम अधिकारी उदय प्रताप सिंह, मुख्य शिक्षा अधिकारी आरसी आर्य, जिला समाज कल्याण अधिकारी अमन अनिरूद्ध सहित अन्य अधिकारी मौजूद थे।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
- Advertisment -
- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments