39.2 C
Dehradun
Thursday, May 30, 2024
HomeअपराधGirl Friend के खर्चे पूरा करने को दो लाख रुपए में फर्जी...

Girl Friend के खर्चे पूरा करने को दो लाख रुपए में फर्जी तरीके से डॉक्टर बनना चाहता था, परीक्षा नियंत्रक ने पकड़ लिया

– नीट की परीक्षा में किसी अन्य परीक्षार्थी के स्थान पर परीक्षा देने पहुंचा था अभियुक्त 

– पकड़ा गया अभियुक्त राजकीय मेडीकल कॉलेज में एमबीबीएस द्वितीय वर्ष का है छात्र

– परीक्षा से पूर्व बायोमैट्रिक उपस्थिती के दौरान मिलान न होने पर पकड में आया था अभियुक्त 

देहरादून। रविवार को श्री गुरू राम राय पब्लिक स्कूल राजा रोड देहरादून पर एमबीबीएस(नीट) की परीक्षा आयोजित की गई थी। जिसमें परीक्षा के दौरान परीक्षा नियंत्रक द्वारा परीक्षार्थियों की बायोमैट्रिक उपस्थिती ली गई तो एक परीक्षार्थी के बायोमैट्रिक से मिलान न होने पर जांच के दौरान उक्त व्यक्ति का किसी अन्य परीक्षार्थी के स्थान पर परीक्षा में सम्मिलित होना ज्ञात होने पर पकड़ में आया।

पुलिस के अनुसार जिसकी सूचना वादी अरूण सक्सेना परीक्षा नियंत्रक एसजीआरआर स्कूल राजा रोड द्वारा कोतवाली नगर पर दी गई। जिस पर कोतवाली नगर में मु0अ0सं0: 226/24 धारा: 419,420,120बी भादवि का अभियोग पंजीकृत किया गया।

पूछताछ में अभियुक्त देव प्रकाश पुत्र ओम प्रकाश निवासी: ग्रा0 गिरधर घोरा, पो0 चितलनाना, जिला संचोर, राजस्थान द्वारा बताया गया कि वह वर्तमान में राजकीय मेडीकल कॉलेज पाली में एमबीबीएस द्वितीय वर्ष का छात्र है तथा वर्ष 2022 में उसके द्वारा नीट की परीक्षा पास की गई थी।

सितम्बर 2022 में उत्तराखण्ड में ऋषिकेश, हरिद्वार तथा केदारनाथ घूमने के दौरान उसकी मुलाकात रूद्रपुर निवासी मयंक गौतम से हुई, जिससे बातचीत के दौरान उसके द्वारा बताया गया कि वह नीट की परीक्षा पास करना चाहता था, पर पढाई में कमजोर होने के कारण वह उसमें असफल रहा।

इसके पश्चात अभियुक्त सोशल मीडिया के माध्यम से लगातार मयंक गौतम के सम्पर्क में रहा, मयंक गौतम द्वारा अभियुक्त को उसके स्थान पर नीट की परीक्षा पास करने तथा उसके एवज में 02 लाख रू0 देने का प्रलोभन दिया गया।

चूंकि अभियुक्त की एक युवती से दोस्ती थी तथा पढाई के खर्चो के साथ-साथ उसके खर्चे वहन करने में उसे काफी कठिनाई हो रही थी, इसलिये अभियुक्त द्वारा प्रलोभन में आकर उक्त ऑफर को स्वीकार कर लिया।

योजना के अनुसार अभियुक्त द्वारा अपनी पासपोर्ट साइज फोटो को फेसबुक के माध्यम से मयंक गौतम को भेजा, जिसे मयंक गौतम द्वारा अपने परीक्षा फार्म में लगाया गया तथा अभियुक्त को नीट की परीक्षा का परीक्षा केन्द्र गुरू राम राय पब्लिक स्कूल राजा रोड में होने की जानकारी दी।

दिनांक: 05-05-24 को अभियुक्त उसे भेजे गये प्रवेश पत्र को लेकर परीक्षा केन्द्र में परीक्षा देने पहुंचा पर बायोमैट्रिक मशीन से अभियुक्त के फिंगर प्रिंट का मयंक गौतम के आधार कार्ड से मिलान न होने पर पकड में आ गया।

*विवरण गिरफ्तार अभियुक्त:-*

देव प्रकाश पुत्र ओम प्रकाश निवासी: ग्रा0 गिरधर घोरा, पो0 चितलनाना, जिला संचोर, राजस्थान

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
- Advertisment -
- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments