36.2 C
Dehradun
Tuesday, May 28, 2024
Homeअपराधकई घरों में मची चीख-पुकार, नवरात्र में कुट्टू के आटे की रोटी...

कई घरों में मची चीख-पुकार, नवरात्र में कुट्टू के आटे की रोटी खाने से दर्जनों लोग अस्पताल में भर्ती

 

* त्योहारों में फूड इंस्पेक्टरों की लापरवाही का परिणाम भुगत रही जनता 

देहरादून। नवरात्र शुरू हो चुके हैं ऐसे में घर-घर में कुट्टू के आटे का सेवन किया जा रहा है। लेकिन कुट्टू का आटा ताजा है या नहीं इसके बारे में जांच करने की जहमत खाद्य विभाग के अधिकारियों ने नहीं उठाई, जिसका परिणाम निकला कि हरिपुर कला में कुट्टू के आटे की रोटी के सेवन से कई लोगों की जान पर बन आई। वह तो शुक्र है भगवान का कि सभी लोग समय रहते अस्पतालों में पहुंच गए और उनका इलाज हो गया नहीं तो कोई अनहोनी हो सकती थी। 

देर रात्रि हरिपुरकला क्षेत्र अंतर्गत कुछ लोगों द्वारा नवरात्रि के व्रत के पश्चात कुट्टू का आटे के सेवन करने के कारण स्वास्थ्य खराब होने की सूचना थाना रायवाला प्राप्त हुई।

सूचना के बाद पुलिस को पता चला कि पीड़ित व्यक्तियों में से 15 लोग नजदीकी हॉस्पिटल भागीरथी में तथा 03 लोग डॉक्टर सचान हॉस्पिटल और 03 सरकारी अस्पताल रायवाला में भर्ती है।

कुछ लोग दवाई लेकर घर चले गए। सभी पीड़ित व्यक्तियों की हालत सामान्य है। तहसीलदार को सूचित करते हुए खाद्य विभाग के फूड इंस्पेक्टर को भी उपरोक्त प्रकरण के संबंध में सूचित किया गया गया है। 

उपरोक्तसूचना पर तहसीलदार ऋषिकेश, निरीक्षक खाद्य आपूर्ति विभाग व डॉक्टर्स की टीम राजकीय चिकित्सालय ऋषिकेश से भागीरथी अस्पताल हरिपुरकला थाना रायवाला पहुंचे। जहां डॉक्टरों द्वारा मरीज़ों की स्थिति सामान्य बताई गई।

पुलिस के मुताबिक पीड़ितों के परिवार जन द्वारा बताया कि उनके द्वारा कट्टू का आटा स्थानीय फुटकर दुकानदारो विपिन अग्रवाल पुत्र स्व0 तरस चंद अग्रवाल निवासी सूखी नदी खड़खड़ी हरिद्वार। जय गंगा प्रोविजन स्टोर, मधुसूदन ट्रेडर्स निवासी बेदिक मोहन आश्रम भूपतवाला हरिद्वार, श्रीनाथ ट्रेडर्स उक्त, सुखीजा सुपर स्टोर से खरीदा है।

उपरोक्त सम्बन्ध में अभी किसी भी प्रकार की कोई तहरीर थाना रायवाला को प्राप्त नही हुई है। तहरीर प्राप्त होने पर उचित कार्यवाही की जाएगी।

 

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
- Advertisment -
- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments