36.2 C
Dehradun
Thursday, May 30, 2024
Homeउत्तराखंडहिंदी पत्रकारिता दिवस : उत्तरांचल प्रेस क्लब परिसर में सूचना महानिदेशक डा....

हिंदी पत्रकारिता दिवस : उत्तरांचल प्रेस क्लब परिसर में सूचना महानिदेशक डा. रणवीर सिंह चौहान ने रोपा पौधा

 

— पत्रकारों की मान्यता से संबंधित संशोधित नियमावली का ड्राफ्ट तैयार : केएस चौहान 

— उत्तरांचल प्रेस क्लब की ओर से इस वर्ष चार श्रेणी में राज्य के युवा पत्रकारों को किया जाएगा पुरस्कृत

देहरादून, 30 मई। उत्तरांचल प्रेस क्लब ने सोमवार को हिंदी पत्रकारिता दिवस तमाम औपचारिकताओं से इतर पौधरोपण करके मनाया।

बतौर मुख्य अतिथि महानिदेशक (सूचना) डॉ. रणवीर सिंह चौहान और विशिष्ट अतिथि उप निदेशक केएस चौहान ने क्लब परिसर में पौधा रोप कर पौधरोपण अभियान की शुरुआत की। 

इस अभियान के तहत क्लब सदस्यों को 101 पौधों का वितरण किया जाना है। इस मौके पर उत्तरांचल प्रेस क्लब की ओर से 35 वर्ष तक के युवा पत्रकारों व फोटो जनर्लिस्ट्स को उत्कृष्ट लेखन के लिए प्रोत्साहित करने को इस वर्ष चार पुरस्कार देने की घोषणा की गई।

पत्रकारों की मान्यता नियमावली बनेगी व्यावहारिक :

प्रदेश में मुख्यधारा के ज्यादा से ज्यादा पत्रकारों को मान्यता मिल सके, इस दिशा में नियमावली को संशोधित किया जा रहा है। भविष्य में तहसील स्तर पर ही मान्यता की व्यवस्था होगी। इसके साथ ही पत्रकारों को मिलने वाली पेंशन संबंधी नियमावली को भी ज्यादा व्यावहारिक बनाया जा रहा है।

यह जानकारी महानिदेशक (सूचना) डॉ. रणवीर सिंह चौहान और उप निदेशक केएस चौहान ने दी। पौधरोपण के बाद प्रेस क्लब के डॉ. पीतांबर दत्त बड़थ्वाल सभागार में आयोजित गोष्ठी में डॉ. रणवीर सिंह ने कहा कि वे सरकारी सेवा में आने से पूर्व स्वयं पत्रकारिता के क्षेत्र में आना चाहते थे। लेकिन, संयोग यह है कि आज वे सूचना एवं लोक संपर्क महकमे के माध्यम से पत्रकार परिवार का ही हिस्सा बने हैं।

उन्होंने कहा कि इस परिवार के मुखिया के नाते वे पत्रकारों की समस्याओं के निदान के लिए हर तरह से प्रयासरत हैं। उन्होंने कहा कि जब कोई कार्य किया जाता है, तो समस्याएं भी आती हैं। लेकिन, कोई भी समस्या ऐसी नहीं होती, जिसका समाधान न हो।

डॉ. चौहान ने कहा कि उत्तरांचल प्रेस क्लब के भवन निर्माण के लिए जितने भी बजट की आवश्यकता होगी, वह उपलब्ध कराने के लिए कार्रवाई की जाएगी। 

उप निदेशक केएस चौहान ने कहा कि यह सच है कि मुख्यधारा के अधिसंख्य पत्रकार मान्यता से वंचित हैं। इसी को देखते हुए नियमावली का संशोधित ड्राफ्ट तैयार किया जा रहा है।

सरकार को भेजे जाने से पूर्व इस पर उत्तरांचल प्रेस क्लब से भी सुझाव लिए जाएंगे। इससे पूर्व क्लब अध्यक्ष जितेंद्र अंथवाल ने कहा कि राज्य में मुख्यधारा के 90 फीसदी से ज्यादा पत्रकार मान्यता से वंचित हैं। इसलिए, नियमावली में आवश्यक संशोधन जरूरी है।

राज्य में 10 वर्ष तक पत्रकारिता करने वाले मुख्यधारा के सभी पत्रकारों को मान्यता देने की व्यवस्था हो। इसके साथ ही पेंशन संबंधी नियमों को लचीला बनाया जाना जरूरी है, ताकि ज्यादा से ज्यादा वास्तविक पत्रकारों को इसका लाभ मिल सके।

उन्होंने प्रेस क्लब भवन निर्माण के लिए आगामी बजट में प्रावधान करने और राज्य में पूर्णकालिक, अंशकालिक व स्वतंत्र पत्रकारों की वास्तविक संख्या का डाटा एकत्र कर तदनुसार उनके कल्याण के लिए योजनाएं बनाने की भी मांग की। 

इस अवसर पर पूर्व अध्यक्ष नवीन थलेड़ी ने भी विचार व्यक्त किए। संचालन महामंत्री ओपी बेंजवाल ने किया। इस दौरान क्लब सदस्य व चमनलाल महाविद्यालय के प्राचार्य डॉ. सुशील उपाध्याय, पौधरोपण अभियान में सहयोग करने वाले अक्षत जैन भी मंचासीन रहे।

क्लब के कोषाध्यक्ष नवीन कुमार, संयुक्त मंत्री दिनेश कुकरेती, उपाध्यक्ष गीता मिश्रा, कार्यकारिणी सदस्य महेश पांडे व राजकिशोर तिवारी, पूर्व महामंत्री गिरधर शर्मा ने अतिथियों को पुष्पकली व स्मृति चिह्न प्रदान कर उनका स्वागत किया।

 

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
- Advertisment -
- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments