36.2 C
Dehradun
Thursday, May 30, 2024
Homeअपराधदेहरादून वालों के लिए नई खबर : Traffic problem से निपटने को...

देहरादून वालों के लिए नई खबर : Traffic problem से निपटने को car pulling को प्रोत्साहित करेगी पुलिस, टोका-टाकी की आदत बनाते हुए संदिग्ध गाड़ियों की चेकिंग करेंगे पुलिसकर्मी

 

देहरादून। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक दलीप सिंह कुंवर ने जनपद के समस्त अधिकारियों के साथ गोष्टी में यातायात सुधार, नशे के विरुद्ध कार्रवाई, शिकायती प्रार्थना पत्रों के निस्तारण तथा भूमि धोखाधड़ी संबंधी मामलों में प्रभावी कार्रवाई करने के निर्देश दिए। 

1- ड्यूटी में नियुक्त समस्त अधिकारी/कर्मचारीगण अपना टर्न-आउट उच्च कोटी का रखते हुए साफ-सुथरी वर्दी धारण करेंगे तथा ड्यूटी के दौरान अनुशासन बनाये रखते हुए पूर्ण कर्तव्यनिष्ठा के साथ अपनी ड्यूटी का निर्वहन करेंगे।

2- समस्त थाना/चौकी प्रभारी थाना/चौकी से जाने वाली समस्त ड्यूटियों में नियुक्त कर्मचारीगणों को भली-भांति ब्रीफ करते हुए ड्यूटी हेतु रवाना करेंगे तथा ड्यूटी से वापसी के उपरान्त उनके द्वारा किये गये कार्यों का फीड बैक लेंगे।

3- सभी थाना प्रभारी सीसीटीवी/सर्विलांस के साथ-साथ मैनुअल पुलिसिंग पर भी काम करेंगे। साथ ही इस बात का सुनिश्चित करेंगे कि प्रत्येक बीट कान्स्टेबल प्रतिदिन अपनी-अपनी बीट पर कम से कम एक घण्टा भ्रमणशील रह कर जानकारी एकत्रित करे। सभी क्षेत्राधिकारी उक्त आदेशों का अनुपालन सुनिश्चित करेंगे। बीट सिस्टम में अच्छा काम करने वाले थाना प्रभारी को सम्मानित किया जायेगा।

4- रात्रि ड्यूटी में नियुक्त सभी अधिकारी/कर्मचारीगण संदिग्ध व्यक्तियों/वाहनों की तलाश हेतु आने जाने वाले वाहनों की गहनता से चैकिग करेंगे। साथ ही टोका-टाकी की आदत बनाते हुए रात्रि के समय अनावश्यक रूप से घूमने वाले व्यक्तियों को थाने लाकर उनके सत्यापन की कार्यवाही करेंगे।

सभी क्षेत्राधिकारी/थाना प्रभारी नियमित रूप से रात्रि ड्यूटी में नियुक्त कर्मचारियो को चैक कर उन्हें ब्रीफ करेंगे तथा मेरे द्वारा स्वयं भी रात्रि के समय आकस्मिक रूप से इसकी चैकिंग की जायेगी तथा ड्यूटी के दौरान लापरवाही बरतने वाले अधिकारी/कर्मचारीगणों के विरूद्ध विभागीय कार्यवाही अमल में लायी जायेगी।

6- सभी थाना प्रभारी अपने-अपने थानों में लम्बित एन0बी0डब्ल्यू, बी0 डब्ल्यू, सम्मन, सत्यापन व प्रार्थना पत्रों की चैक लिस्ट बनायेंगे तथा थाना स्तर से जो भी टीम थाना क्षेत्र, बाहरी जनपदों अथवा गैर प्रान्त रवाना हो, वह उक्त चैक लिस्ट में एक ही स्थान के एनबीडब्ल्यू, बी डब्ल्यू, सम्मन, सत्यापन अपने साथ ले जाये, जिससे कि बार-बार एक ही स्थान पर अलग-अलग कार्यों के लिये अलग-अलग टीमों को रवाना न करना पड़े।

06: किसी भी जनपद की पुलिसिंग का आंकलन उस जनपद की यातायात व्यवस्था को देखकर किया जाता है, इसलिये सभी थाना/चौकी क्षेत्रों में यातायात व्यवस्था के सुचारू संचालन का सम्पूर्ण उत्तरदायित्व सम्बन्धित थाना/चौकी प्रभारी का होगा। यातायात पुलिस सम्बन्धित थाना/चौकी प्रभारियों के सहयोगार्थ रहेगी।

07: सभी क्षेत्राधिकारी/यातायात निरीक्षक/थाना प्रभारी अपने-अपने क्षेत्रों में यातायात के दबाव वाले मार्गों का भ्रमण कर यातायात के दबाव को कम करने के लिये जिन कटो को खोला जाना अथवा मार्ग को डाइवर्ट किया जाना अनिवार्य हो, उसका आंकलन कर लें तथा यातायात व्यवस्था में बाधक अतिक्रमण/नो पार्किंग में खडे वाहनो के विरूद्ध आवश्यक कार्यवाही करना सुनिश्चित करें।

8- सभी क्षेत्राधिकारी/थाना प्रभारी/चौकी प्रभारी पीक आवर्स(प्रात: स्कूलों के खुलने, आफिसों के खुलने, स्कूलों के छुट्टी होने तथा सांयकाल में ऑफिसों के बन्द होने) के दौरान अपने-अपने थाना/चौकी क्षेत्रों के व्यस्ततम चौराहों/मार्गों पर स्वंय उपस्थित रहकर यातायात का सुचारू संचालन करना सुनिश्चित करेंगे। यातायात व्यवस्था के सुचारू संचालन हेतु उत्कृष्ठ कार्य करने वाले यातायात पुलिस के जवानों को प्रत्येक माह पुरूस्कृत किया जायेगा।

9- सडको पर वाहनों के दबाव को कम करने के लिये पुलिस अधीक्षक यातायात सभी थाना प्रभारियों के साथ समय-समय पर लोगों को कार पूलिंग के लाभ बताते हुए कार पूलिंग की प्रवृत्ति को बढावा देने हेतु व्यापक रूप से जन- जागरूकता आभियान चलायेंगे।

10- देहरादून शहर में युवाओं के बीच बढती नशे की पृवृत्ति को रोकने के लिये सभी थाना प्रभारी व्यापक रूप से अभियान चलायेंगे, जिसके तहत 15 दिवस के अन्दर अपने-अपने थाना क्षेत्रों में मादक पदार्थों की तस्करी में जेल गये/प्रकाश में आये अभियुक्तों तथा नशे कि गिरफ्त में आये युवाओं की सूची तैयार करते हुए ऐसे नशा तस्करों के विरूद्ध गुंडा तथा गैंगस्टर एक्ट के तहत कार्यवाही करना सुनिश्चित करेंगे। साथ ही नशे की गिरफ्त में आये युवाओं का प्रोफाइल तैयार कर उनके परिजनों से मिलकर युवाओं की काउन्सलिंग करते हुए उन्हें नशे से होने वाले दुष्प्रभावों के सम्बन्ध में जागरूक करेंगे।

इसके अतिरिक्त अपने-अपने थाना क्षेत्रों में स्थित शिक्षण संस्थानों के प्रबन्धकों के साथ गोष्ठी आयोजित कर उन्हें नशे के विरूद्ध युवाओं को जागरूक करते हुए उन पर सतत दृष्टि बनाये रखने तथा शिक्षण संस्थानों के आस-पास नशे से जुडी किसी भी प्रकार की गतिविधि होने पर इसकी सूचना तत्काल पुलिस को देने के लिये प्रेरित करेंगे।

11- सभी थाना प्रभारी थाने पर प्राप्त होने वाले प्रत्येक शिकायती प्रार्थना पत्र पर पत्र प्राप्ती के 30 मिनट के अन्दर मौके पर जाकर प्रार्थना पत्र में अंकित तथ्यों के सम्बन्ध में जानकारी करते हुए अग्रिम विधिक कार्यवाही करना सुनिश्चित करेंगे।

प्रत्येक शिकायती प्रार्थना पत्र का निस्तारण पत्र प्राप्ती के 15 दिवस के अन्दर सुनिश्चित किया जाये तथा जिन मामलों में निस्तारण 15 दिन की समयावधि में सुनिश्चित न हो पाये उनमें उच्चाधिकारियों से अतिरिक्त समयावधि लेते हुए ऐसे मामालों का निस्तारण अधिकतम 30 दिवस के अन्दर सुनिश्चित किया जाये। इसमें किसी भी प्रकार की कोताही न बरती जाये।

12- भूमि विवाद से सम्बन्धित मामलों के निस्तारण के लिये जिलाधिकारी देहरादून महोदय द्वारा एक कमेटी का गठन किया गया है, जिसके द्वारा प्रत्येक सोमवार को प्रात: 11ः00 से अपरान्ह: 02: 00 बजे तक भूमि सम्बन्धी मामलों का निस्तारण किया जाता है।

इस सम्बन्ध में अपने-अपने थाना क्षेत्रों में लोगों को अवगत कराना सुनिश्चित करें। साथ ही शीघ्र ही जनपद में भूमि विवादों से सम्बन्धित मामलों के निपटारे के लिये एक अन्य समिति भी गठित की जायेगी जिसमें एसडीएम, क्षेत्राधिकारी, तहसीलदार, पटवारियों, थाना प्रभारियों को सम्मिलित करते हुए भूमि सम्बन्धी शिकायतों का विधिक निस्तारण सुनिश्चित किया जायेगा।

13- सभी थाना प्रभारी इस बात को सुनिश्चित कर लें कि भूमि सम्बन्धी धोखाधडी व अन्य धोखाधडी के मामलों में सम्बन्धित क्षेत्राधिकारी की जांच के उपरान्त ही अभियोग पंजीकृत किये जायेंगे। भूमि सम्बन्धी गम्भीर आपराधिक मामलों में सम्बन्धित व्यक्ति को भारी मुचलकों से पाबंद किया जाये।

14- सभी थाना प्रभारी अपने-अपने थाना क्षेत्रों में निवासरत बाहरी व्यक्तियों, फड/ठेली/फेरी वालों को चिन्हित कर सत्यापन की कार्यवाही करना सुनिश्चित करेंगे, जिसके लिये प्रत्येक दिवस थानों से टीमें रवाना की जायेंगी। जिनके द्वारा की गयी कार्यवाही का विवरण प्रत्येक दिवस सम्बन्धित क्षेत्राधिकारी व पुलिस अधीक्षक को उपलब्ध कराया जायेगा, जिनके द्वारा इसकी नियमित रूप से मानीटरिंग की जायेगी।

15- सभी थाना प्रभारी अपने-अपने थाना क्षेत्रों में स्थित पी0जी0/हास्टल संचालकों के साथ गोष्ठी कर वहां निवासरत लोगों के सत्यापन की कार्यवाही करते हुए सप्ताह में दो बार उक्त स्थानों की आकस्मिक रूप से चैकिंग करना सुनिश्चित करेंगे। इसके अतिरिक्त थाना क्षेत्र में स्थित स्पा सैन्टरों/पब्लिक स्नूकर प्वाइंट की भी नियमित रूप से चैकिंग करते हुए उक्त स्थानों पर किसी भी प्रकार की अनियमितता पाये जाने पर सम्बन्धित के विरूद्ध आवश्यक वैधानिक कार्यवाही करना सुनिश्चित करेंगे।

16- प्रत्येक माह थाना प्रभारियों के अतिरिक्त सभी चौकी प्रभारियों के साथ भी गोष्ठी आयोजित कर उनके द्वारा किये जा रहे कार्यों की समीक्षा की जायेगी तथा अपेक्षानुरूप कार्य न करने वाले चौकी प्रभारियों को हटाया जायेगा।

उक्त गोष्ठी के दौरान पुलिस अधीक्षक अपराध/यातायात/नगर/ग्रामीण, नगर क्षेत्र के समस्त क्षेत्राधिकारी/थाना प्रभारी पुलिस कार्यालय में उपस्थित रहे तथा ग्रामीण क्षेत्र के समस्त क्षेत्राधिकारी/थाना प्रभारी व जनपद के समस्त चौकी प्रभारियों द्वारा आनलाइन माध्यम से गोष्ठी में प्रतिभाग किया गया।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
- Advertisment -
- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments