28.3 C
Dehradun
Wednesday, June 26, 2024
Homeअपराधआधी रात को मसूरी में फायरिंग की घटना पर दौड़ी पुलिस, कोल्हू...

आधी रात को मसूरी में फायरिंग की घटना पर दौड़ी पुलिस, कोल्हू खेत बैरियर पर पकड़ा-धकड़ी

देहरादून। मसूरी से बीती आधी रात को एक व्यक्ति ने पुलिस कंट्रोल रूम को सूचना दी कि उसके साथ झगड़ा हो रहा है और कुछ लोग उसके ऊपर फायरिंग कर रहे हैं। आधी रात के समय मसूरी जैसे शांत इलाके में फायरिंग होने की खबर सुनते ही पुलिस में हड़कंप मच गया तुरंत पुलिस फोर्स मौके की और जोड़ी और फोन करने वाले का पता करते हुए कोल्हू खेत बैरियर के पास दोनों पक्षों को पकड़ लिया। 

पुलिस को पूछताछ में पता चला कि कंट्रोल रूम को फोन करने वाले ने हड़बड़ाहट में पुलिस को पर इनकी गलत सूचना दे दी थी जबकि उनके बीच मामूली बात को लेकर विवाद हुआ था। इस मामले में पुलिस ने दोनों पक्षों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। 

पुलिस के मुताबिक 1:15 बजे रात्रि 112 कंट्रोल रुम देहरादून द्वारा सूचना दी गई कि लंढोर मसूरी में झगड़ा हो रहा है तथा कॉलर द्वारा बताया जा रहा है कि हम पर फायरिंग हो रहे हैं। उक्त सूचना पर तत्काल अलग-अलग टीम गठित कर उक्त लड़ाई झगड़ा करने वाले व्यक्तियों की तलाश करवाई गई।

पुलिस ने बताया कि कॉलर से संपर्क करने पर पता चला कि वह मसूरी से देहरादून की तरफ जा रहे हैं। इसके बाद पुलिस ने कार्रवाई करते हुए कोल्हू खेत पर फायरिंग की सूचना देने वाले व्यक्ति सुल्तान खान पुत्र मेराज निवासी नगरिया ठाकुरगंज उत्तर प्रदेश, शुभम शुक्ला पुत्र महेंद्र शुक्ला निवासी गौशाला रोड़ ठाकुरगंज लखनऊ उत्तर प्रदेश, सागर मिश्रा पुत्र राजेश मिश्रा निवासी बालागंज ठाकुरगंज लखनऊ उत्तर प्रदेश जिनको पूछताछ हेतु कोल्हू खेत बैरियर पर रोक लिया गया था।

पुलिस ने बताया कि कड़ी पूछताछ करने पर पता चला कि उक्त व्यक्तियों के साथ किसी अन्य दो व्यक्तियों के द्वारा पिक्चर पैलेस पर लड़ाई झगड़ा किया गया। उक्त व्यक्तियों की तलाश करवाई गई जिसमें मनीत पुत्र आसाराम निवासी राज मंडी मसूरी देहरादून व विक्रम पुत्र ओम प्रकाश निवासी राज मंडी मसूरी देहरादून का होना पाया गया।

उक्त दोनों व्यक्तियों को कोल्हूखेत में बुलाकर आमने सामने बैठाकर पूछताछ की गई तो पता चला कि किसी भी प्रकार की कोई फायरिंग नहीं हुई बल्कि कॉलर द्वारा हड़बड़ाहट में फायरिंग की झूठी सूचना दी गई, जबकि दोनों पक्षों का आपस में मामूली विवाद हो गया था। 

पुलिस के अनुसार इस मामले में झूठी सुचना देने पर उपरोक्त 03 व्यक्तियों व लड़ाई झगड़ा करने वाले 02 व्यक्तियों के विरूद्ध उत्तराखंड पुलिस अधिनियम 2007 की धारा 81 के अंतर्गत कार्यवाही अमल में लाई गई तथा भविष्य के लिए इस प्रकार की झूठी सूचना ना देने हेतु कड़ी चेतावनी दी गई । उक्त संबंध में दोनों पक्षों द्वारा लिखित माफी नामा व समझौता नाम भी प्रस्तुत किया गया जिसमें भविष्य में इस तरह के कृत्य ना दोहराने हेतु कहा गया ।

 

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
- Advertisment -
- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments